पाकिस्तान पर टूटा मुसीबतों का अंबार,अब यहां से भी हुई छुट्टी

आर्थिक तंगी से जूझ रहे पाकिस्तान की मुसीबत कम होने का नाम ही नहीं ले रही है.लेकिन इसके बाद भी पाकिस्तान के पीएम इमरान खान अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहे हैं.पाकिस्तान की तमाम तिकड़म और दुनिया की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश नाकाम साबित हुई है और वह फाइनैंशल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की ‘ग्रे लिस्ट’ में ही बना रहेगा। इस्लामाबाद को ताकीद की गई है कि अगर वह आतंकवाद समेत 25 पॉइंट वाले ऐक्शन प्लान को पूरा नहीं करता है तो उसे ‘ब्लैक लिस्ट’ में डाल दिया जाएगा।

पाकिस्तान के पीएम आतंकियों पर कोई लगाम नहीं लगा पाए है. जिसके कारण उनकी मुसीबतें बढ़ती नजर आ रही है. बता दें की FATF की चिंताओं पर पाकिस्तान कार्रवाई करने में सफल नहीं रहा है, ऐसे में उसके लिए आने वाला समय काफी मुश्किलों भरा रहने वाला है। FATF ने अपने सदस्यों से पाकिस्तान के तमाम कारोबारी रिश्ते और वित्तीय लेन-देन पर नजर रखने को कहा है।

पाकिस्तान की इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार ने अपनी जनता से वादा किया था कि वह फरवरी में FATF की ग्रे लिस्ट से बाहर निकल जाएगा। चीन, मलयेशिया और तुर्की की मदद से पाकिस्तान ‘ब्लैक लिस्ट’ में जाने से तो बच गया लेकिन उसे ‘ग्रे लिस्ट’ से बचने के लिए 13 देशों के समर्थन की दरकार थी, जो उसे नहीं मिला।

वहीं FATF की ग्रे लिस्ट से बचने के लिए पाकिस्तान ने खूब चालें भी चलीं लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो पाया। उसने लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद को कुछ दिन पहले गिरफ्तार किया था। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान ने बैठक में कहा कि ऐक्शन प्लान में शामिल पॉइंट के आधार पर उसने आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई की। हालांकि पाकिस्तान की तमाम चाल नाकाम रही और इमरान एवं पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का नकाब सबके सामने उतर गया।

Recommended For You

About the Author: Deepak Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *