कमलनाथ सरकार के मंत्री की फिसली जुबान, दिव्यांगों को कही ये बात

मध्य प्रदेश के मंत्री की शर्मनाक भाषा सुनिए दिव्यांग जनों के लिए मंच से मंत्री जी क्या कह रहे हैं दिव्यांग जनों को लूला और लंगड़ा कहकर संबोधित करने वाले यह है कमलनाथ सरकार के मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा. दरअसल मंदसौर के सीतामऊ में आयोजित किसान कर्ज माफी सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे. जल संसाधन मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा ने दिव्यांगों को लंगड़े-लूले और अंधे कहकर संबोधित किया. वहीं जब सभा के दौरान एक किसान ने अपनी समस्या बताई तो कराड़ा ने उसे धमकाते हुए कहा कि ये हरकत उनके क्षेत्र शाजापुर में की होती तो वहीं जूते मारते.

मंच पर बोलते-बोलते मंत्री हुकुम सिंह कराड़ा कुछ ऐसे बहके कि उन्हें होश ही नहीं रहा कि जिन लोगों के साथ ईश्वर ने पहले ही नाइंसाफी की है उनके लिए किस तरह के शब्दों का प्रयोग किया जाए. पीएम नरेंद्र मोदी शारीरिक रूप से अक्षमता वाले लोगों के लिए दिव्यांग शब्द का उपयोग करने का आग्रह कर चुके हैं. और आम जनमानस भी अब अपंग और अपाहिज इस तरह के शब्दों से बचकर दिव्यांग शब्द का इस्तेमाल करते हैं.

ताकि पहले से ही पीड़ित लोगों की भावनाएं आहत ना हो लेकिन मध्यप्रदेश के मंत्री को मानव शिष्टाचार से कोई लेना-देना है ही नहीं और वह सार्वजनिक मंच से अपंग और अपाहिज तो छोड़िए लुले और लंगड़े जैसे शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं.

और वह भी दिव्यांगों को दी जाने वाली राशि के संदर्भ में मंत्री जी के भाषण की छोटी सी क्लिप अगर आप सुनेंगे तो आपको पता लगेगा कि मंत्री जी इन शब्दों का प्रयोग मानो ऐसे कर रहे हैं. जैसे सरकारी खजाने से इन्हें मदद नहीं बल्कि खैरात दी गई हो और मंत्री जी यह पैसा अपने घर से लेकर आए हो.

Recommended For You

About the Author: Deepak Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *