निर्भया के दोषियों को कोर्ट ने सुनाया आखिरी फरमान, इस दिन हो सकती है फांसी

दिल्ली के वसंत विहार इलाके में 16 दिसंबर, 2012 की रात 23 साल की पैरामेडिकल छात्रा निर्भया के साथ चलती बस में बहुत ही बर्बर तरीके से सामूहिक दुष्कर्म किया गया था. इस जघन्य घटना के बाद पीड़िता को इलाज के लिए सरकार सिंगापुर ले गई जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई थी.वहीं इस भयावह घटना के बाद देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए थे. इस केस की चर्चा अंतराष्ट्रीय स्तर पर हुई थी. निर्भया के एक दोषी राम सिंह ने केस की सुनवाई के दौरान ही खुदकुशी कर ली थी.

वहीं इस घटना के बाद से ही लोगों में अपराधियों के प्रति आक्रोश का माहौल पैदा हो गया था. और अपराधियों को फांसी की सजा देने की लगातार मांग की जा रही थी. जिसके बाद से ही सभी अपराधी जेल में बंद है. और कोर्ट द्वारा सभी को फांसी की सजा सुनाई गई थी. लेकिन अपराधियों द्वारा कोर्ट के फैसले को लगातार चुनौती दी जा रही थी. लेकिन अब निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के सभी चार दोषियों को तिहाड़ जेल प्रशासन ने लिखित तौर पर सूचना दे दी है. कि अब परिवार के साथ होने वाली यह मुलाकात आखिरी होगी.

कोर्ट द्वारा सुनाए गए फरमान के अनुसार निर्भया के चारों दोषियों को 3 मार्च सुबह छह बजे फांसी दी जाएगी. पटियाला हाइस कोर्ट ने 17 फरवरी को नया डेथ वारंट जारी किए जाने की मांग वाली याचिका पर यह फैसला दिया था. बता दें कि निर्भया के दोषियों की फांसी लगातार कानूनी-दांवपेच की वजह से टल रही है.

निर्भया गैंगरेप केस के 4 दोषियों मुकेश कुमार सिंह, विनय कुमार शर्मा, अक्षय और पवन गुप्ता को फांसी होनी है. चार में तीन दोषी मुकेश, विनय और अक्षय फांसी के बचने के लिए राष्ट्रपति के सामने दया याचिका भी लगा चुके हैं, लेकिन वो खारिज हो गई हैं. ऐसे में इन तीनों की फांसी का रास्ता बिल्कुल साफ हो गया है, इनके पास अब कोई विकल्प नहीं बचा है.

Recommended For You

About the Author: Deepak Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *