Coronavirus: वुहान से भारतीयों की वापसी पर संकट,चीन कर रहा राजनीति

चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस धीरे-धीरे अन्य देशों में भी तेजी से फैलता जा रहा है. वही इस वायरस से बचने के लिए अभी तक किसी प्रकार का कोई पुख्ता इलाज नहीं मिल पाया है. इस वायरस के कारण अभी तक हजारों लोगों की मौत भी हो चुकी है. और यह वायरस एक संकट के रूप में चीन समेत सभी देशों के सामने खड़ा है.

वहीं भारतीय मूल के लोग जो चीन में रहकर पढ़ाई और कामकाज करते हैं उन्हें लाने के लिए भारत सरकार अपने प्रयास कर रही है. लेकिन इस संकट की घड़ी में भी चीन अपना रंग दिखाना नहीं भूल रहा है. और वुहान शहर में फंसे 120 भारतीयों को लाने के लिए विमान की अनुमति जानबूझकर नहीं दी जा रही है. जिसके कारण वुहान शहर में फंसे सभी भारतीय बेहद परेशानी का सामना कर रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चीन में कोरोना वायरस से अब तक 2300 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वुहान में सबसे ज्यादा लोग इस बीमारी की चपेट में हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक वुहान में 45,346 लोग इस बीमारी से जूझ रहे हैं.

दरअसल ये विमान रिपोर्ट के मुताबिक C-17 ग्लोबमास्टर 20 फरवरी को ही वुहान के लिए उड़ान भरने वाला था, लेकिन चीन की और से इजाजत न देने की वजह से ऐसा नहीं हो सका. वहीं यह विमान यहां से कोरोना वायरस से जुड़े इलाज के लिए दवाएं भी लेकर जाएगा. और वापसी के दौरान वुहान में फंसे भारतीयों को लेकर वापस आएगा. लेकिन चीन के अडंगे की वजह से इस ऑपरेशन में बाधा आ रही है और भारतीयों की तत्काल वापसी पर प्रश्नचिह्न लग गया है.

About the Author: Deepak Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *