दिल्ली हिंसा: 22 लोगों की मौत पत्थरबाजी से, 13 हुए गोली का शिकार

सीएए कानून को लेकर दिल्ली में हुई हिंसा में मरने वालों का आकड़ा 42 पर पहुंच गया है. और 250 से जयदा लोग घायल है. जिनका उपचार चल रहा है. हिंसा में दंगाइयों द्वारा पत्थर,बंदूक,पेट्रोल बम सहित अन्य हथियारों का उपयोग किया गया था.

मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली हिंसा में हुई हिंसा में मारे गए लोगों में 22 लोगों की मौत पत्थरबाजी की वजह से हुई है. दिल्ली पुलिस ने हिंसा में मारे गए लोगों में से 35 के मरने के कारणों की पहचान कर ली है, जिसमें 22 की मौत पथराव या हमले की वजह से जबकि 13 मौत गोली लगने की वजह से हुई.जैसे-जैसे दिन बीतते जा रहे हैं हिंसा से जुड़े खुलासे पुलिस के सामने आ रहे हैं.

पुलिस ने शुक्रवार को नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में हुई हिंसा में 35 लोगों के मारे जाने के कारणों का खुलासा किया और उनकी मौत की वजह भी बताई. 35 में से 22 की मौत पथराव या उन पर हुए शारीरिक हमले से हुई जबकि 13 की मौत बंदूक की गोली लगने से हुई.

पुलिस रिपोर्ट के अनुसार, अब तक के उपलब्ध रिपोर्ट के मुताबिक हिंसा के दौरान (मंगलवार तक) 35 लोगों ने चोट लगने या अन्य कारणों से दम तोड़ा. गोली लगने से 13 लोगों की मौत हुई जबकि 22 लोग चोट लगने की वजह से गंभीर रूप से घायल हुए और बाद में उनकी मौत हो गई.

About the Author: Deepak Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *