मध्यप्रदेश: मुश्किल घड़ी में,कांग्रेस के संकटमोचन बने, ये दो मंत्री

भोपाल: भाजपा दोबारा सरकार पाने के लिए तमाम कोशिश कर रही है. और कांग्रेस भी अपनी सत्ता बचाने के लिए लगातार प्रयास कर रही है. वहीं इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने भाजपा पर विधयाकों को खरीदने का आरोप लगाया था. कांग्रेस ने भाजपा पर 8 विधायकों को गुरुग्राम के एक होटल में बंधक बनाने का आरोप लगाया था. लेकिन इस मुश्किल की घडी में कमलनाथ सरकार के लिए दो मंत्री संकटमोचन बने और 4 विधायकों को वापस ले आए।

बता दें कि प्रदेश के वित्तमंत्री तरुण भनोट ने कहा था कि भाजपा ने 8 विधायकों को गुरुग्राम के आईटीसी ग्रैंड भारत होटल में बंधक बना रखा है, इनमें से 4 विधायक कांग्रेस पार्टी, 2 विधायक बहुजन समाज पार्टी और एक विधायक समाजवादी पार्टी से हैं, जबकि एक विधायक निर्दलीय है।

source twitter

वायरल वीडिया में पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा बोल रहे हैं कि एक बार आ जाओ….. राज करेंगे। डाॅ. राय ने बोला कि एक MLA से क्या होगा। इस पर मिश्रा ने कहा कि जहां तक है दो-तीन तो तुम पे ही है, जो मेरी जानकारी है….। डाॅ. राय- तुम तो दो तीन है, मेरे पे भी तीन -चार है, वो कांग्रेस के ही है……। मिश्रा- वो तो जब तुम हां कर दोगे ना, तो सब असेम्बल कर देंगे…..जब असेम्बल करेंगे तो एक साथ कही भी चले जाएंगे…. इसके बाद गर्वनर से बात करेंगे ….. सीधा खत्म करेंगे … और अगले दिन ही शपथ ग्रहण…. आज करोगे तो 24 घंटे में शपथ ग्रहण…..।

डाॅ. राय… तो उसको तो रिजाइन करना पड़ेगा ना….। मिश्रा- इसको मिनिस्टर बनाएंगे, फिर इसको लोकसभा लड़ाना है या विधानसभा ….. पाठक को भी लाए थे हम…..। डाॅ. राय- इसको पहले मंत्री बनाओ फिर चुनाव लड़ाओ…। मिश्रा- रिजाइन तो देना पड़ेगा….सरकार कैसे हार जाएगी उपचुनाव, कैसी बात कर रहे हो….।

Recommended For You

About the Author: Deepak Meena

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *